Saturday

कामिनी दीदी की प्यास – 2-xstoryhindi

दोस्तों मैं सागर अपनी कहानी का दूसरा पार्ट लेकर आया हूँ. आशा करता हूँ की अपने कहानी का पहला भाग “कामिनी दीदी की प्यास” पढ़ी होगी.
दोस्तों मैं फिर से एक बार अपनी कामिनी दीदी से परिचय करा देता हूँ. कामिनी दीदी ३० साल की एक सुन्दर और सेक्सी औरत है. उनका फिगर ३८-३०-४० है. एक बार मेरे दोस्त ने अपनी बर्थडे पार्टी में बुलाया. मैं अकेला नहीं जाना चाहता था, क्यूकी वहा मेरे सारे दोस्त अपनी गर्लफ्रेंड के साथ आने वाले थे. मैंने सोचा की दीदी को ही लेकर चालता हूँ.

मैं: दीदी आज मेरे एक फ्रेंड का बर्थडे है.. तुम भी चलो मेरे साथ
दीदी: सागर मैं क्या करूंगी वहा जाकर..
मैं: चलो ना दीदी वहा सब अपनी गर्लफ्रेंड के साथ आएंगे.. मैं अकेला जाकर क्या करूंगा
दीदी: अच्छा तू मुझे वहा अपनी गर्लफ्रेंड बना कर ले जायेगा.. फिर तो मैं जरूर जाऊँगी.. पर भाई मैं क्या पहनू …
मैं: टेंशन ना लो दीदी .. ये ड्रेस पहन लो.. मैंने आपके लिए लायी है…
मैंने दीदी के लिए रेड कलर के एक ड्रेस ली थी..
दीदी: भाई ये तो बहुत छोटी है…
मैं: क्या दीदी आज कल इसी का जमाना है… इस ड्रेस में तुम आग लगा दोगी पार्टी में..
दीदी: ठीक है भाई… अगर तू कहता है तो मैं पहन लूंगी..
मैं: दीदी प्लीज अंदर ब्रा मत पहनना ..
दीदी: हट बदमाश कैसी कैसी डिमांड रखता है… चल ठीक है नहीं पहनुंगी ..
रात ८ बजे मैं रेडी हो गया.. और कामिनी दीदी का वेट कर रहा था… दीदी काफी देर तैयार हो कर आयी… मैं तो दीदी को देखता ही रह गया… दीदी ने लाइट मेकअप कर रखा था.. आज बहुत ही सुन्दर लग रही थी… ड्रेस तो मैंने काफी छोटी ली थी.. इसलिए काफी टाइट लग रही थी.. और दीदी के बदन का हर कर्व दिख रहा था… चूचियां तरबूज के साइज की लग रही थी और आधे से ज्यादा नंगी दिख रही थी.. दीदी ने ब्रा नहीं पहनी थी.. इसलिए दीदी की छाती का उभार पहाड़ जैसा लग रहा था. ड्रेस सिर्फ गांड के निचे तक ही थी.. दीदी की मोटी नंगी सेक्सी जाँघे जबरदस्त लग रही थी.. बहुत ही चिकनी और गोरी टांगे थी. ड्रेस में दीदी की विशालकाय भारी चुत्तड़ बहुत बड़ी और कसी हुई लग रही थी.. जब दीदी चल रही थी तो उनकी चूचियां हवा में बाउंस हो रही थी और उछल कर बाहर आ रही थी..

दीदी: सागर ये ड्रेस छोटी नहीं है..
मैं: नहीं दीदी बहुत मस्त लग रही हो.. एक दम सेक्स बम ..
दीदी: हट भाई… कुछ ज्यादा ही रिवीलिंग है ड्रेस
मैं: दीदी आपका बदन बहुत ही सेक्सी है.. ऐसे ड्रेस में आप और मस्त माल लगती हो..
मैंने दीदी को पकड़ लिया और उनकी चूचियां दबा दी….
दीदी: आआह्ह्ह्हह्ह सागर… क्या कर रहा है…
मैं: कुछ नहीं दीदी … तुम्हारी जवानी का मजा ले रहा हूँ
दीदी: ओह्ह्ह्हह्हह भाई अभी नहीं … अभी चलो पार्टी में
फिर हमदोनो पार्टी में चले गए.. पार्टी के रिसोर्ट में थी. वहा मैंने अपने दोस्तों से दीदी को अपनी गर्लफ्रेंड की तरह मिलाया. मेरे सारे दोस्त दीदी का गदराया बदन देख लार टपकने लगे..
अजय: अबे साले तेरी गर्लफ्रेंड तो बहुत पटाखा माल है
मैं: हाँ भाई… वो तो है…
अजय: अबे क्या बड़े बड़े आम है यार और बहुत भारी गांड है तेरी माल की ..
मैं: अबे अपनी गर्लफ्रेंड को ताड़ .. मेरी माल पर क्यू नजर डाल रहा है…
अजय: भाई रिसोर्ट में रूम भी बुक है… अपनी माल को रूम में लेजाकर अच्छे से चोद लेना
मैं: ठीक है ब्रो.. तू भी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मस्त एन्जॉय कर
पार्टी में मैंने और दीदी ने खूब दारू पिया. हम सब डांस कर रहे थे. मैं दीदी को पकड़ कर डांस कर रहा था. दीदी की चूचियां हवा में बहुत उछल रही थी. मैं अपना लंड दीदी की गांड में घिस रहा था और मौका देखकर उनकी चूचियों को मसल देता.. बहुत ही सॉफ्ट चूचियां थी…
दीदी: अह्ह्ह्हह भाई… ये क्या कर रहा है… मेरी चुत गीली हो गयी है..
मैं: दीदी आपके बॉल्स इतने उछल रहे है की कण्ट्रोल नहीं हो रहा है…
दीदी: भाई चल ना कही मजे लेते है
मैं: ठीक है दीदी … यहाँ रूम बुक है वही चलते है
दीदी: ओह्ह्ह्हह भाई … ग्रेट
मैं दीदी को एक कमरे में ले गया और मैंने दीदी को हग कर लिया और किश करने लगा.. दीदी भी मुझे किश कर रही थी… मैं अपने दोनों हाथो से दीदी की भारी गांड को दबा रहा था. बहुत ही बड़ी और चौड़ी गांड थी साली की.. बहुत देर तक मैंने दीदी को किश किया और उसकी चुत्तड़ो को मसला…

दीदी की सांसे तेज हो गयी .. और हर साँसों के साथ चूचियां ऊपर निचे हो रही थी..मैंने दीदी की चूचियों को पकड़ लिया और दबाने लगा.. इतनी बड़ी बड़ी चूचियों को दबाने में बहुत मजा आ रहा था…
दीदी: आआआहह्ह्हह्ह्ह्ह भाई…
मैं: उफ्फ्फ्फ़ दीदी आपके आम तो मेरे हाथो में नहीं आ रहे है…
दीदी: ऊऊह्ह्ह्हह्ह भाई…. खूब दबा और चूस इन्हे….
मैं बहुत ही जोर जोर से उनकी चूचियों को दबा और चूस रहा था… मैंने ड्रेस की जीप खोल दी और दीदी को नंगा कर दिया… मैं उनके पुरे बदन को चूमने लगा..वो आह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह की आवाजे निकल रही थी… मैंने दीदी की मोटी चिकनी जांघो को खूब चूमा .. दीदी की बूर पूरी गीली हो चुकी थी…
दीदी: भाई जल्दी से चोद मुझे…मैं कब से नंगी लेती हूँ तेरे सामने…
मैं:ठीक है दीदी… तैयार हो जाओ अपने भाई का लंड लेने के लिए..
मैंने दीदी को डॉगी स्टाइल में लिया.. और अपना ८” का लंड पेल दिया उसकी बूर में..
दीदी: आअह्ह्ह्हह भाई… ओह्ह्ह्हह्ह आईईईई
मैं: उफ्फ्फ दीदी मस्त टाइट बूर है आपकी..
दीदी: भाई चोद अपनी रंडी को… और ले ले जवानी का मजा
मैं दीदी की चौड़ी गांड को पकड़ कर चोद रहा था…मेरा लंड दीदी की टाइट चुत का मजा ले रहा था… मैं अपना लंड पूरा निकाल कर फिर पेल देता था…इससे दीदी को चुदाई में बहुत मजा आ रहा था.. उनकी झूलती हुई बड़ी बड़ी चूचियों को मैं दबा दबा कर चोद रहा था…
दीदी: ओह्ह्ह्हह्ह सागर मेरे भाई… अपनी बहन की प्यास बुझा दे.. भोग ले मेरा बदन
मैं: आह्ह्ह्हह दीदी … देखो कैसा मेरा लंड आपकी बूर चोद रहा है…
दीदी: अह्हह्ह्ह्ह भाई कीप फकिंग मी बेबी…आईईईई मेरी चूचियों को दबा दबा कर चोद मुझे…
मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी… दीदी भी बहुत तेज मॉन कर रही थी.. पुरे कमरे में दीदी की आँहो की आवाज आ रही थी.. मेरा बहुत बुरी तरह दीदी की बूर चोद रहा था….

दीदी: आअह्हह्ह्ह्ह भाई… और तेज … फ़क माय पुसी डार्लिंग..
मैं: अह्हह्ह्ह्ह दीदी…
दीदी: ओह्ह्ह्हह आईइइइइइइइ भाई फास्टर फास्टर … कीप फकिंग योर सिस्टर बेबी…
मैं: उफ्फ्फ्फ़ दीदी मैं झड़ने वाला हूँ
दीदी: सागर …. अह्ह्ह्हह्हह भाई थोड़ा और तेज चोद अपनी दीदी को मेरा भी निकलने वाला है………… ओह्ह्ह माय स्वीट बेबी फ़क मी हार्डर… आईईईई…
हमदोनो बुरी तरह झड गए.. मैंने अपना मूठ दीदी के बूर में ही गिरा दिया… मैंने दीदी के गोरे नंगे बदन को खूब चूमा …..फिर हम दोनों नंगे ही लिपट कर सो गए …

b:if cond='data:view.isPost'>                                                                   

If you want to comment with emoticon, please use the corresponding puncutation under each emoticon below. By commenting on our articles you agree to our Comment Policy
Show EmoticonHide Emoticon

हमारी वेबसाइट पर हर रोज नई कहानियां प्रकाशित की जाती हैं