Thursday

मेरे लिये चुदाई महज़ एक खेल था  | xstoyhindi

   मेरे लिये चुदाई महज़ एक खेल था  | xstoyhindi 

हेल्लो चुदाई के नंगे दोस्तों | चलो आज आपके लिए एक नयी खबर है | आप के पास मै मौजूद हूँ जो आप को नयी खबर सुनाने वाला हूँ | मुझे खबर सुनाने का सौक है | मै शिमला में रहता था | मेरे मम्मी ने मुझे एक जिम्मदारी सौपी थी | मेरे गाव में मेरे तीन मामा रहते थे | मुझे जिम्मेदारी मिली थी उन तीनो मामा की शादी करवाना था | अफसोस यह था की मेरे मामा कार्य करना पसंद नहीं करते थे | 

मै शिमला में गाडी सुधारना का कार्य करता था | मैने अपने तीनो मामा को अपने गाडी सुधरने वाले कार्य में लगा लिए | कुछ दिन तक सब बहतर चला लेकिन वक्त गुजरने पर मेरे तीनो मामा शिमला से भागना का फैसला करने लगे | उन्हे रूपए का लालच नहीं था क्योकि उनका रहन सहन कुछ ऐसा ही था | मेरे मामा लोग के लिए मेरी नानी सब कुछ देती थी | उनके लाड ने उनको कार्य के प्रति लापरवाह बना दिया था | उनकी लापरवाही बडती जा रही थी | यही वजह थी मेरी मम्मी ने उन्हे मेरे पास भेजा था | मेरी मम्मी ने मुझे कुछ खर्चा भी दिया था ताकि मै अपने मामा लोग को कार्य के प्रति जागरूख कर सकू | मै उन्हे प्रोत्सहन करने के लिए महान लोगो के किस्से सुनाया करता था |
मेरे लिये चुदाई महज़ एक खेल था  | xstoyhindi

लेकिन उन्हे कुछ फर्क नही पडता था | मैने एक दिन उन्हे उन लोगो से मिलाया जो लोग रोज कार्य करते थे ताकि उनकी जीविका चला सके | एक लड़के से मिलाया और उस लड़के ने हमे उसके बारे में बताया | मेरे पापा नहीं है और मेरे तीन छोटे भाई है | हमारे दादा गरीब थे इसलिए मुझे अपने घर की जिम्मेदारी उठानी पड़ी | मै रोज कार्य पर जाता हूँ | मै अपने मामा को रोज साफ सुथरा रहने का सलाह देता हूँ | मै इसके आलावा उनको घर के कार्य भी सौप देता था | मै अपने एक मामा को घर में झाड़ू लगाना का कार्य दिया था | दुसरे मामा को कपडे धोने का कार्य दिया | उसके बाद तीसरे मामा को बर्तन धोने का कार्य दिया | हर दिन के बाद मै उनके कार्य को बदल देता था | जो मेरे पहेले मामा को झाड़ू देने का कार्य दिया था उन्हे अगले दिन कपडे दोने का कार्य दे देता था | दुसरे मामा जिन्हे कपडे धोना का कार्य दिया था उन्हे बर्तन धोने का कार्य दिया |

तीसरे मामा जिन्हे बर्तन धोने का कार्य दिया था उन्हे झाड़ू लगाना का कार्य दिया करता था | मै उनकी कार्य प्रणाली को बदलता रहता था | मै रोज तीनो मामा को अपने साथ ले जाता था जहा मै लोगो की गाडी सुधरता था | मै गाडी सुधारते वक्त उन्हे हर चीज समझाता था ताकि वो गाडी सुधारना सीख सके | अफसोस एक साल तक कोई भी मामा गाडी सुधारने में निपुण नहीं है | 

उन लोगो कि इस कम्जोरियो को बदलने के लिए मैने उनको मेरे गाडी सुधारने वाले कार्य के आलावा कुछ और अन्य कार्यो से उन्हे अवगत कराया | मेरे मामा को सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी करने का मौका दिया | तीनो मामा ने एक महीने तक सिक्योरिटी गार्ड का कार्य किया | परुन्तु अगले महीने सबने सिक्योरिटी गार्ड के जैसा आराम वाला कार्य भी छोड़ दिया | मेरे लाख कोशिशि करने पर भी मेरे तीनो मामा में कार्य के प्रति लगाव नही पाया | मुझे एक दिन मेरे दोस्त ने राय दिया कुछ नया करो तब मैने पहेले उन से कार्य करवाना छोड़कर उनकी पहेले शादी करवाना का फैसला किया | मैने उनके लिए लडकिया तलाश करने का फैसला किया | मैने कई सारी लडकियो को तलाश किया और मेरे मामा लोग को मिलवाने के लिए उन्हे तयार किया | मेरे तीनो मामा शादी के लिए तयार नहीं थे |मेरे लिये चुदाई महज़ एक खेल था  | xstoyhindi

इसलिए मैने उन्हे लालच देने की योजना बनाई | मैने अपने तीनो मामा से कहा आप अगर शादी कर लेते है तो आप लोगो को कुछ नहीं करना पड़ेगा | आप को सिर्फ आराम करना पड़ेगा | आपके घर का कार्य आप लोगो की पत्नी करेगी | बहुत कुछ करने के बाद मै जब उनको बदलने में थक गया तो तब मैने यह रास्ता निकला था | मुझे मालूम था अगर उनकी शादी हो गयी तो उन लोगो को घर चलाने के लिए रूपए कमाना पड़ेगा | क्योकि शादी करने के बाद खर्च अधिक होता है | जिन लोगो का खर्च अधिक होता है उन्हे कार्य अधिक करना पडता है | शादी के बाद दवाई के ऊपर खर्चा होता है | इसके बाद कपड़ो पर खर्च होता है | 

रोज के भोजन समग्री लाने में भी खर्चा होता है | इन सब खर्चो को उठाने के लिए कार्य पर रोज जाना पडता है | अगर रूपए न हो तो विभिन खर्च उठाना सम्भव नही है | मेरे तीनो मामा के लिए शादी के रिस्ते आने लगे | मेरी पूरी कोशिश थी मेरे तीनो मामा की शादी नौकरी वाली लडकियो से ही हो | मेरे सबसे बड़े वाले मामा के शादी पहेले हुई और उनके लिए एक नौकरी वाली लड़की मैने तलाश करके लाया था | मेरे मामा ने उन से शादी कर ली | शादी करने के बाद मेरे मामा उनको घुमाने के लिए शहर ले कर गए | उनकी देखभाल और सम्भालने के लिए मै भी उनके साथ साथ चला गया | वहा पर रुकते हुआ हमे एक महीने हो चूका था और मेरे मामा ने मामी को चोदो था |

जब मामा मामी को चोद रहे थे तब चुदाई को मै देख रहा था | मामी ने साडी पहनी हुई थी लेकिन मामा ने साडी को नही खोला था | मामा ने मामी की साडी को उपर उठाया और उनकी गांड को अपने हाथो से दबा रहे थे | उसके बाद बिना साडी को खोले मामा ने मामी की चूत को अपने हाथो से रगड़ना शुरु कर दिया | उसके बाद मामा ने उनकी चूत के अन्दर अपने लंड को डाल दिया | उसके बाद मामा के लंड से मलाई बाहर आने लगा | मामा ने मामी से कहा की अब तुम मेरे लंड को चुसो | मामी ने लंड को चुसना शुरु किया | कुछ देर बाद चुदाई करके थक गये तो उन्होने चोदना छोडकर एक जगह पर बैठ गए | लेकिन उसके बाद मामा ने मामी से कहा अब मुझे तुम्हारी दूध को पीना है इसलिए उन्होने दूध को पीना शुरु कर दिया | उसके बाद मामा ने मामी से कहा की अब मुझे तुम्हारी चूत को चाटना है इसलिए मामी ने उनकी साडी को उपर उठा लिया और मामा घुटने पर बैठकर मामी की चूत को चाटने लगे |

एक साल बाद मेरे बड़े मामा को एक लड़का हुआ | अब सब कुछ सम्भव हो गया था क्योकि बीवी और बच्चो का खर्च उठाने की जिम्मेदारी उन पर आ गयी थी | मेरे मामा को मालूम चला अगर उन्हे खर्च को पूरा करना है तो कार्य करना पड़ेगा | उन्होंने लड़का होने के तीन महीने बाद कार्य पर जाना शुरु किया | उस वक्त वो केवल गाव में रहकर कार्य करते थे क्योकि उनका बच्चा छोटा था | बीवी और बच्चे को सम्भालने के लिए उन्हे रूपए कमाना पड़ रहा था | आखिरकार उन्हे मालूम चल गया था बिना रूपए कमाए खर्च चलाना सरल नहीं होता |

 मेरे मामा ने मुझ से एक बड़ी नौकरी दिलाना का अनुरोध किया | उनकी उस अनुरोध पर मैंने गौर किया और उन्हे भरोसा दिलाया | मै उनके लिए एक बड़ी नौकरी का बन्दोबस करूंगा | करीब एक साल तक उन्होने गाव में छोटे कार्य करके रूपए कमाये | इसके बाद मैंने उन्हे अपने शहर बुलाया | मेरी पहचान बड़े लोगो से है और उनके लिए कई सारे लड़के कार्य करते है | मैंने अपने मामा के लिए एक पहचान वाले से बात की और उसने मुझे हा कर दिया और कहा तुम्हारे मामा को भेज देना | मेरे सबसे बड़े मामा ने एक होटल में कार्य करना शुरु किया और उनको तनखा अधिक मिलने लगी | उसके बाद मैने अपने दुसरे नंबर के मामा की शादी करवाना का फैसला किया | मेरे दुसरे मामा ने भी शादी कर ली | शादी करने के बाद मैने उन्हे मामी को बहर ले जाना का राय दिया | मेरी राय के अनुसार मेरे दुसरे मामा ने मेरे मामी को घुमाना के लिए ले कर गए |

मै भी उनके साथ गया था | मै अपने मामा को राय दिया की आप यहा का कई सारे जगह पर घूम सकते है और आप के पास एक महिना है सिर्फ घुमने के लिए | क्योकि मामी को नौकरी से एक महीने कि छुट्टी मिली थी | छुट्टी बीतने के बाद मै अपने मामा को ले कर वापस लौट गया | मेरे दुसरे मामा ने भी चुदाई किया और कुछ महीने बाद उनको एक लड़का हुआ | मेरी मामी के जोर देने पर मेरे दुसरे मामा ने कार्य करना शुरु किया | मेरी मामी ने मेरे मामा को खर्च देना रोक दिया | अब उनको खर्च चलाने के लिए रूपए कमाना पड़ता था | मेरे दुसरे मामा ने सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करना शुरु किया | सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते हुए मेरे मामा को 8000 रूपए मिलने लगे | इसके बाद एक साल तक उन्होने सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी किया | उसके बाद उन्होने नौकरी बदल ली | वाकई में शादी ने जो कमाल किया था वो बहतर था | 

मेरे मामा अब पहेले से बहतर हो चुके थे और सब सम्भव हो पाया था मेरी महनत के कारण | मुझे अब आखरी कार्य करना था अपने तीसरे मामा को भी शादी के बंधन में बांदना था | मैने अपने तीसरे मामा को समझाया और उनको यह बात समझ में आ गयी | उनको भी कोई नौकरी करने वाली लड़की से शादी करवाना मेरे लिए एक जिम्मेदारी वाला कार्य था | इसकेलिए मुझे तलाश करना शुरु करना था | मेरी महनत रंग ले कर आई और मैने उनकी शादी करवा दी | अब मेरे तीसरे मामा ने शादी कर चुके थे | शादी करने के बाद उन्हे खर्च का भार उठाना पड़ा | मेरे मामा ने अपने जीवन में कुछ जिम्मेदारी वाला कार्य नहीं किया था लेकिन अब उन्हे उनका खर्च उठाने के लिए कार्य करना पड़ेगा | उन्हे एक कपडे बनाने वाले कारखाने में रंग करने का कार्य मिला | वो कुछ दिन बाद उस कार्य में निपुण हो गए |मेरे लिये चुदाई महज़ एक खेल था  | xstoyhindi

मुझे अब अपने तीनो मामा पर गर्व होता है | मेरे मामा को आगे बढाने के लिए मैने जो अपने तन और धन लगाया था वा अब सफल हो गया था | मेरे तीनो मामा अब उनके रूपए कमाने के कार्य में लगे रहते है | मैने सुरुआत में पहेले जो किया था वो इतना सफल नहीं हुआ था | क्योकि मेरे मामा लोगो के ऊपर जिम्मेदारी नहीं थी लेकिन उसके बाद मैने उनकी शादी करवा दी और उनपर काफी बदलाव आया | आखिरकार शादी ने सब कुछ बदलकर रख दिया | बिना शादी किये हुए वो तीनो ऐसे घूमते थे जैसे उनके पास कोई जिम्मेदारी नहीं थी | लेकिन जब उनके बच्चे हो गए तो उनके पास कोई रास्ता नहीं बचचा और उन्होने रूपए कमाना शुरु कर दिया | 

loading...
मेरे मामा लोग काफी बदल चुके है जो पहेले कार्य से भागते थे लेकिन अब कार्य के प्रति समर्पण रखते है | जिन लोगो के ऊपर जिम्मेदारी नही होती है | वो अक्सर उनका वक्त आवारा घुमने में व्यर्थ कर देते है | लेकिन जब वक्त आता है तो उन्हे कार्य करना ही पडता है | मेरी मम्मी ने मुझे जो जिम्मेदारी सौपी थी आखिरकर मैने उसे पूरा कर दिया | मेरी मम्मी ने मुझे मेरे कार्य के लिए मुझे सब्बासी दी | मै भी अब बड़ा हो चूका हूँ | इसलिए मुझे भी शादी करना है | लेकीन मै अपने मामा लोगो कि तरह नहीं हूँ जो कार्य को करना पसंद नहीं करते है | उन लोगो के लिए मेरे पास कार्य तो था परुन्तु उन्होने कार्य को महत्व नहीं दिया लेकिन वक्त पड़ा तो कार्य के प्रति उनका रुझान बड गया | मै अपनी शादी कोई ऐसी लड़की से करने वाला जो सिर्फ घर को संभाले |

b:if cond='data:view.isPost'>                                                                                                                           

If you want to comment with emoticon, please use the corresponding puncutation under each emoticon below. By commenting on our articles you agree to our Comment Policy
Show EmoticonHide Emoticon

हमारी वेबसाइट पर हर रोज नई कहानियां प्रकाशित की जाती हैं