Sunday

देर में समझ आया प्यार | xstoryhindi

देर में समझ आया प्यार | xstoryhindi

मेरे जीवन में सब कुछ बहुत ही अच्छे से चल रहा था मैंने और कोमल ने अपना जीवन साथ में बिताने की भी सोची थी। कोमल मेरी गर्लफ्रेंड है और मैंने उसे अपने परिवार के सब लोगों से मिलवा दिया था सब लोगों को मेरे और कोमल के बारे में पता था, कोमल ने भी मुझे अपने परिवार से मिलवाया था और हम दोनों ने सब को यह बता दिया था कि हम दोनों जल्दी शादी करने वाले हैं लेकिन मैं अपने जीवन में सेटल होना चाहता था
देर में समझ आया प्यार | xstoryhindi

 मैं एक कंपनी में नौकरी करता हूं लेकिन उसके बावजूद भी मुझे और तरक्की करनी थी इसलिए मैंने और कोमल ने एक दूसरे को थोड़ा और समय देने के बारे में सोचा लेकिन मुझे नहीं पता था कि वह मेरे लिए इतना बुरा हो जाएगा।

कोमल की मुलाकात कौशल से हो गई कोमल के सपने पहले से ही बड़े थे कोमल हमेशा से यह चाहती थी कि वह जिससे प्यार करे उसके पास सब कुछ पहले से ही संपन्न हो लेकिन मैंने भी कभी कोमल को कोई कमी नहीं होने दी और जब से कोमल की जिंदगी में कौशल आया तो उस वक्त कोमल और मेरे बीच दूरियां बढ़ने लगी,

 मैंने कोमल को कई बार इस बारे में समझाने की कोशिश की पहले तो हम दोनों प्यार से बात किया करते थे लेकिन जब हम दोनों के बीच इस बात को लेकर हर दिन झगड़े होने लगे तो मुझे भी लगने लगा कि शायद अब कोमल ने अपना रास्ता बदल लिया है, मैंने भी कोमल को इस बारे में समझाना छोड़ दिया था और समय के साथ मैंने चलना उचित समझा, मुझे इस बात का दुख था कि कोमल ने मेरे साथ बहुत गलत किया क्योंकि मैंने कभी भी उसे किसी चीज की कमी नहीं होने दी और मुझसे जितना अधिक हो सकता था उतना मैंने उसे प्यार किया हम दोनों एक अच्छा समय भी साथ में बिताया करते थे लेकिन कौशल के आ जाने की वजह से हम दोनों के रास्ते अलग हो गए।

मैंने इस बारे में एक दिन कोमल से बात करने की सोची उस दिन कौशल भी उसके साथ आ गया कौशल को मैंने समझाया, मैंने कौशल से कहा देखो कौशल मैं कोमल को इतने वर्षों से जानता हूं और हम दोनों ने अपना जीवन साथ में बिताने की भी सोची थी लेकिन कोमल शायद अब भटक चुकी है कौशल मुझे कहने लगा देखो यह कोमल का फैसला है इसमें ना तो मैं कुछ कर सकता हूं और ना ही इसमें तुम कुछ कर सकते हो यदि तुम जबरदस्ती कोशिश कर सकते हो तो शायद वह तुम्हारे लिए ही गलत होगा।

 मुझे उस वक्त बहुत गुस्सा आया और मैं वहां से चुपचाप अपने घर चला आया मेरा उस दिन मूड बहुत ज्यादा खराब था मैंने अपने दोस्तों को फोन लगाया लेकिन मेरे दोस्तों ने मुझे यही बात कही कि तुम अब कोमल को भूल जाओ कोमल को भूलने में ही तुम्हारी भलाई है, पर मेरे दिमाग से कोमल का ख्याल ही नहीं निकल रहा था इस वजह से मेरी जॉब पर भी फर्क पड़ने लगा और कुछ समय बाद मैंने अपनी कंपनी से रिजाइन दे दिया। मैं तो जैसे पागल सा होने लगा था मेरा मानसिक संतुलन बिगड़ने लगा मैं घर में किसी से भी अच्छे से बात नहीं किया करता मेरे परिवार वालों ने भी कोमल से बहुत बात की लेकिन उसे कुछ भी समझ नहीं आया और ना ही वह किसी से बात करना चाहती थी मुझे तो बिल्कुल भी यकीन नहीं हो रहा था

 कि यह सब इतनी जल्दी कैसे हो गया मैंने कभी भी इस बारे में नहीं सोचा था मैं हमेशा यही सोचता कि कोमल मेरा हर जगह साथ देगी लेकिन कोमल ने जब मेरे साथ धोखा किया तो मैं पूरी तरीके से टूट चुका था और मेरे पास ना तो कुछ काम था और ना ही मैं किसी के साथ अच्छे से बात किया करता, मेरे मम्मी पापा ने मुझे बहुत समझाने की कोशिश की लेकिन मेरे दिमाग में कुछ भी बात नहीं आती और मैं सिर्फ अपने कमरे में ही बैठा रहता, इस बात को एक वर्ष हो चुका था और इस एक वर्ष में सब कुछ बदल गया, मेरे दो दोस्तों ने भी तरक्की कर ली थी और मैं उनसे काफी पीछे हो चुका था अब मैं थोड़ा बहुत लोगों से बात करने लगा था और दोबारा से अपने जीवन में लौटने लगा।

कोमल मेरे दिमाग से नहीं निकली थी मुझे समझ नही आ रहा था कि मुझे क्या करना चाहिए क्योंकि इस एक साल में सब कुछ पूरी तरह से बदल चुका था, कोमल मेरे जीवन से बहुत दूर जा चुकी थी और मेरे सुनने में यह आया था कि कौशल और कोमल ने शादी कर ली है, मेरे पास अब सिर्फ मेरा परिवार ही था मेरे परिवार ने मुझे बहुत ज्यादा सपोर्ट किया और मैंने कोमल को भुलाने की कोशिश की।

 मैंने कंपनी ज्वाइन कर ली और वहां पर मैं अच्छे से काम करने लगा मैंने जिस कंपनी में ज्वाइन किया वहां पर सारा स्टाफ बड़ा ही सपोर्टिव और अच्छा था मैं धीरे-धीरे अपनी नॉर्मल लाइफ में आने लगा और मैं काम के प्रति बहुत सीरियस हो गया मैं काम पूरी मेहनत से करने लगा जिस वजह से मेरा बहुत जल्दी प्रमोशन भी हो गया मुझे तो जैसे यकीन ही नहीं हो रहा था कि यह सब इतने जल्दी में कैसे हो रहा है, मेरा प्रमोशन भी हो चुका था और मेरी सैलरी भी काफी अच्छी हो चुकी थी जिससे कि मैंने एक नया घर भी ले लिया था और मैंने जिस कार का सपना देखा था वह कार भी मैं ले चुका था, 

मेरे सपने धीरे-धीरे पूरे होने लगे थे लेकिन सिर्फ कमी थी तो कोमल की कोमल की कमी को कोई भी पूरा नहीं कर सकता था, मेरे मम्मी पापा ने मेरे लिए लड़कियां देखना भी शुरू कर दिया लेकिन मैंने उन्हें कहा कि मुझे शादी नहीं करनी है, मेरी मम्मी तो मुझे कहने लगी कि बेटा तुम्हें शादी कर लेनी चाहिए तुम क्यों शादी नहीं कर लेते अब कोमल को तुम भूल जाओ वह कभी भी वापस नहीं आने वाली, मैंने अपनी मम्मी से कहा मम्मी मैं कोमल के बारे में भूल चुका हूं और मुझे यह भी पता है कि कोमल और कौशल ने शादी कर ली है लेकिन फिर भी मुझे अब अकेला ही रहना है।

मैं जब भी अपने रिलेशन के बारे में सोचता हूं तो मुझे बहुत बुरा लगता है उसके बाद मेरे परिवार के किसी भी सदस्य ने मुझे कभी भी शादी के लिए नहीं कहा, एक दिन मुझे कोमल का फोन आया और वह कहने लगी अंकित मुझे तुमसे माफी मांगनी है, मैंने कोमल से कहा लेकिन अब तो तुम्हारी शादी कौशल से हो चुकी है और मैं भी अपने जीवन में व्यस्त हो चुका हूं तुम्हें मुझ से माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है, कोमल कहने लगी मैंने तुम्हारे साथ बहुत गलत किया मुझे अब इस बात का एहसास हुआ, मैंने कोमल से कहा मैंने तुम्हें माफ कर दिया है और तुम अब अपने जीवन में खुश रहो मैं बस यही चाहता हूं, कोमल कहने लगी मैंने कभी भी तुम्हारी अच्छाई को नहीं देखा तुमने मेरे लिए कितना कुछ किया लेकिन मैं तो सिर्फ कौशल के पैसे के पीछे भाग रही थी, मैंने कोमल से कहा अब तुम यह सब बात छोड़ दो।

 मेरा उस वक्त कोमल से बात करने का बिल्कुल मन नहीं था लेकिन वह काफी तकलीफ में थी इसलिए मुझे उससे बात करनी पड़ रही थी और मैं उससे बात करता रहा कुछ देर तक तो मैंने उससे बात की और फिर उसने फोन रख दिया लेकिन अब हमेशा वह मुझे फोन करने लगी और जब भी वह मुझे फोन करती तो वह बहुत उदास होती मुझे पता नहीं था कि कोमल अब रहती कहां है क्योंकि वह मेरे जीवन से बहुत दूर जा चुकी थी। एक दिन कोमल ने मुझे कहा कि मुझे तुमसे मिलना है आज मुझे तुमसे बहुत जरुरी काम है, मैंने कोमल से कहा मैं आज तो कोई जरूरी मीटिंग में हूं मैं तुम्हें ऑफिस से फ्री होकर फोन करता हूं, वह कहने लगी लेकिन तुम मुझे जरुर फोन करना मैं तुम्हारे फोन का इंतजार करूंगी।

मैंने उसे शाम के वक्त कॉल किया वह मुझे कहने लगी तुम मुझे अपनी लोकेशन भेज दो मैं तुमसे मिलने वहीं आ जाती हूं वह मुझसे मिलने के लिए आ गई। जब मैंने उसे काफी समय बाद देखा तो उसके चेहरे पर वह रौनक नहीं थी उसका चेहरा बिल्कुल ही मुरझाया हुआ था वह मुझे देखते ही मुझसे गले मिल गई वह कहने लगी अंकित मुझे माफ कर दो, वह रोने लगी। मैंने उसे कहा यहां पर सब लोग देख रहे हैं तुम मेरे साथ मेरी कार में चलो वह मेरी कार में बैठी। वह मेरी कार को देखने लगी और मुझे कहने लगी तुमने अपना सपना पूरा कर लिया।

 मैंने उसे कहा अब मेरे पास कुछ और बचा भी नहीं था कोमल ने मुझे जब अपनी आप बीती सुनाई तो वह बहुत ज्यादा दुखी थी। वह कहने लगी कौशल ने मुझे बहुत धोखा दिया उसने मेरे परिवार से बहुत दहेज लिया और हर रोज वह मुझे मारता भी है। कोमल ने जब अपनी पीठ को मुझे दिखाया तो उस पर बेल्ट के निशान पड़े थे मैं सोचने लगा कोमल के साथ यह क्या हो गया। मैंने कोमल से कहा क्या तुमने कभी कौशल की कंप्लेंट नहीं की वह कहने लगी मुझे बहुत डर लगता है वह मुझे मारता भी है मेरे जीवन में अब कोई खुशी बची ही नहीं है।

उसने मुझे गले लगा लिया हम दोनों के बीच किस हो गया इतने समय बाद मैंने कोमल के होठों को किस किया था। उसके होठों में अब भी पहले जैसी ही जान थी मैंने अपनी गाड़ी को स्टार्ट किया और एक सुनसान जगह पर लेकर गया। हम दोनो वहां बात करने लगे कोमल ने मेरा हाथ पकड़ लिया मैंने कोमल के हाथ को अपने लंड पर लगा दिया मेरा लंड खड़ा हो चुका था। कोमल ने मेरे लंड को मेरी पेंट से बाहर निकालते हुए अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगी। वह मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी तो मुझे अच्छा लगने लगा मैंने भी उसे नंगा कर दिया और उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया।

 उसकी चूत में लंड जाते ही उसके मुंह से चीख निकल पड़ी वह कहने लगी मैंने बहुत बड़ी गलती की जो तुमसे शादी नहीं की काश मैं तुमसे शादी करती तो मैं बहुत खुश रहती। कोमल को सिर्फ पैसे की भूख थी मैने कोमल से कहा यदि तुम मेरे प्यार को देखती तो शायद तुम खुश रहती लेकिन तुम्हें तो पैसों की भूख थी। वह कहने लगी मुझे अब प्यार का मतलब समझ आ चुका है कोमल को प्यार का एहसास हो गया था इसलिए वह हमेशा मुझसे मिलती।

b:if cond='data:view.isPost'>                                                                                                                                                                                   

If you want to comment with emoticon, please use the corresponding puncutation under each emoticon below. By commenting on our articles you agree to our Comment Policy
Show EmoticonHide Emoticon

हमारी वेबसाइट पर हर रोज नई कहानियां प्रकाशित की जाती हैं